होम | दुनिया | दुनिया के सबसे खाली हवाईअड्डा, अब श्रीलंका-भारत संयुक्त उद्यम के तौर पर चलेगा

दुनिया के सबसे खाली हवाईअड्डा, अब श्रीलंका-भारत संयुक्त उद्यम के तौर पर चलेगा

 

भारत और श्रीलंका के बीच एक संयुक्त उद्यम बनाने पर बातचीत चल रही है। दरअसल भारत और श्रीलंका के बीच दक्षिण श्रीलंका में स्थित मट्टाला अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा घाटे में चल रहा है, जिसके संबंध में भारतीय प्रतिनिधिमंडल कोलंबो में है। यह जानकारी श्रीलंका के परिवहन उप-मंत्री अशोक अभयसिंघे ने संसद में दी। संसद में अशोक से विपक्ष ने पूछा था कि क्या मट्टाला हवाईअड्डे को पूरी तरह बेच दिया जाएगा।

 

अभयसिंघे ने कहा कि भारत ने इस हवाईअड्डे को श्रीलंका-भारत संयुक्त उद्यम के तौर पर चलाने की इच्छा जताई है। उन्होंने कहा, 'नुकसान में होने के बावजूद हवाईअड्डे को कभी भी बेचा नहीं जायेगा।'

 

बता दें मट्टाला हवाईअड्डे का नाम श्रीलंका के पूर्वराष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे के नाम पर रखा गया है और यह एक चीन समर्थित परियोजना थी। उड़ानों की कमी होने की वजह से 21 करोड़ डॉलर की लागत से तैयार यह हवाईअड्डा दुनिया का सबसे खाली रहने वाला हवाईअड्डा बन गया।

 

यहां से उड़ने वाली एकमात्र अंतरराष्ट्रीय उड़ान को भी घाटे और उड़ान सुरक्षा मुद्दो के चलते मई में स्थगित कर दिया गया। सरकार ने 2017 में इस हवाईअड्डे को मुनाफा कमाने वाला बनाने के लिये निवेशकों से प्रस्ताव आमंत्रित किए थे। हालांकि , इसके लिये कोई प्रस्ताव नहीं मिला था।


जनता लाइव टीवी

Right Ads
Google Play

© Copyright Jantatv 2016. All rights reserved. Designed & Developed by: Paramount Infosystem Pvt. Ltd.