CBI दफ्तर का 10वां और 11वां फ्लोर सील किया गया           लखनऊः BJP अध्यक्ष अमित शाह की आज पार्टी नेताओं के साथ अहम बैठक          मेरठ: 60 करोड़ के फर्जी GST बिल से की गई धोखाधड़ी मामले में 3 गिरफ्तार           राजस्थान: झालावाड़ में रोड शो करेंगे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी           पाकिस्तान: नवाज शरीफ, मरियम की सजा माफी की चुनौती वाली याचिका पर सुनवाई आज           भारत और वेस्ट इंडीज के बीच दूसरा वनडे आज           मुंबई: शॉर्ट-सर्किट के कारण एक दुकान में रखे सिलेंडर में लगी आग           दिल्ली में 9 पैसे सस्ता हुआ पेट्रोल, 81 रुपये 25 पैसे प्रति लीटर हुई कीमत           गुजरातः कच्छ के मुंद्रा तालुका में 2 गुटों के बीच झड़प में 6 लोगों की मौत          
होम | दुनिया | पाकिस्तान ने अमेरिका से लिया बदला, डिप्लोमेट्स पर लगाएगा प्रतिबंध

पाकिस्तान ने अमेरिका से लिया बदला, डिप्लोमेट्स पर लगाएगा प्रतिबंध

 

इस्लामाबाद: अमेरिका के पाकिस्तानी राजनयिकों पर यात्रा प्रतिबंध लागू करने के बाद पाकिस्तान ने भी अमेरिका से बदला लेने के इरादे से अमेरिकी राजनयिकों के साथ ऐसा ही किया है। पाकिस्तान ने शुक्रवार को देश में अमेरिकी राजनयिकों पर पारस्परिक यात्रा प्रतिबंध लगा दिए हैं। गौरतलब है की अमेरिका में पाक राजनयिकों पर लगे यात्रा प्रतिबंध भी शुक्रवार से ही लागू हो रहे हैं। हालांकी अमेरिका में यह प्रतिबंध 1 मई से लागू होने थे मगर बाद में इन्हें 11 मई तक टाल दिया गया था जिसके बाद कल इसे लागू किया गया।

बता दें कि इस्लामाबाद में मंत्रालय स्तरीय अधिसूचना जारी की गई जिसमें कहा गया की अमेरिका में प्रतिबंध लागू होने के साथ ही पाकिस्तान में भी इसे लागू माना जाएगा। इसके अलावा हवाई अड्डों और बंदरगाहों पर भी अमेरिकी राजनयिकों को जाँच में छूट नहीं दी जाएगी। साथ ही अमेरिकी राजनयिकों को दी जाने वाली सात सुविधाएं भी वापस ले ली गई हैं। इसके बाद अब वाहनों पर गैर-राजनयिक नंबर प्लेटों का इस्तेमाल, एक से अधिक पासपोर्ट और ओवरशूटिंग वीजा जैसी सुविधाएं वापस ले ली गई हैं।

इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रप्रति डॉनल्ड ट्रंप के प्रशासन ने पाक राजनयिकों को वॉशिंगटन स्थित दूतावास पर या अन्य किसी शहर के वाणिज्यिक दूतावास के 40 किलोमिटर तक यात्रा करने पर प्रतिबंध लगा दिया था। इसका मतलब पाक राजनयिकों को अमेरिका में 40 किलोमिटर से ज्यादा की यात्रा करने के लिए अनुमति लेना अनिवार्य कर दिया गया था। अमेरिका के पाक राजदूत एजाज़ चौधरी ने कहा था कि उन्के अनुसार यह फैसला गलत था।


जनता लाइव टीवी

Right Ads
Bottom ads
Google Play

© Copyright Jantatv 2016. All rights reserved. Designed & Developed by: Paramount Infosystem Pvt. Ltd.