नेशनल हेराल्ड केस: दिल्ली हाईकोर्ट में एजेएल की याचिका पर आज सुनवाई           मुंबई: मराठा आरक्षण मामले में आज पिछड़ा वर्ग आयोग सौंपेगा जांच रिपोर्ट           पेट्रोल की कीमत में गिरावट, दिल्ली में 15 पैसे की कमी के बाद 77.28 रु./लीटर हुआ           डीजल की कीमत में गिरावट, दिल्ली में 10 पैसों की कमी के बाद 72.09 रु./लीटर हुआ           पीएम मोदी सिंगापुर में आसियान-इंडिया इनफॉर्मल ब्रेकफास्ट समिट में शामिल हुए           दिल्ली: बवाना इंडस्ट्रियल इलाके के प्लास्टिक के गोदाम में लगी आग काबू में           दिल्लीः वसंत कुंज में डबल मर्डर, महिला फैशन डिजाइनर और नौकर की हत्या           दिल्लीः डबल मर्डर केस में पूछताछ के लिए 3 नौकर हिरासत में लिए गए           गाजा तूफान की आहट से सहमा दक्षिण भारत, तटीय इलाकों में हाईअलर्ट           उत्तर भारत के तीन राज्यों में भारी बर्फबारी से रफ्तार पर ब्रेक           जम्मू कश्मीर में जमकर बर्फबारी, सर्दी के शुरुआती दिनों में सफेद हुई घाटी         
होम | देश | शराब कारोबारी विजय माल्या के बयान से गरमाई सियासत, राहुल गांधी ने अरुण जेटली से मांगा इस्तीफा

शराब कारोबारी विजय माल्या के बयान से गरमाई सियासत, राहुल गांधी ने अरुण जेटली से मांगा इस्तीफा

 

शराब कारोबारी विजय माल्या ने दावा किया है कि भारत छोड़ने से पहले उनकी मुलाकात वित्त मंत्री अरुण जेटली से हुई थी। माल्या के इस दावे के बाद से सियासत गरमाती जा रही है।

 

राहुल गांधी ने मांगा अरुण जेटली से इस्तीफा

मामले में अब गुरुवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दावा किया है कि संसद में जेटली और माल्या की मुलाकात काफी अंतरंग थी, जिसे पीएल पुनिया ने देखा था। राहुल गांधी ने अरुण जेटली पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा है कि जेटली ब्लॉग लिखते रहते हैं, लेकिन कभी विजय माल्या से मिलने के बारे में देश को नहीं बताया। राहुल ने जेटली से इस्तीफा मांगा है।

 

राहुल गांधी ने कहा कि पहला सवाल यह है कि वित्त मंत्री अपराधी से बात करते हैं लेकिन वित्त मंत्री ने न सीबीआई को बताया, न ईडी को और न ही पुलिस को। इतना ही नहीं, माल्या के लिए जो अरेस्ट नोटिस था उसे इन्फर्मेशन नोटिस में किसने बदला? जेटली को बताना चाहिए कि उन्होंने अपने से यह फैसला किया या ऊपर से ऐसा करने के लिए उन्हें आदेश मिला था।

 

पीएल पुनिया का दावा

राहुल गांधी के बाद पीएल पुनिया ने दावा किया कि, 'बजट सत्र के बाद 1 मार्च 2016 को मैं संसद के सेंट्रल हॉल में बैठा था तभी मैंने देखा कि अरुण जेटली और विजय माल्या खड़े होकर कोने में अंतरंग बातें कर रहे थे।' पुनिया ने दावा किया कि 5-7 मिनट के बाद सेंट्रल हॉल में बेंच पर भी दोनों बात करते दिखे थे।

 

इतना ही नहीं पुनिया ने जेटली को चुनौती देते हुए कहा कि सेंट्रल हॉल में सीसीटीवी लगे हैं, 1 तारीख की फुटेज निकालकर देख ली जाए, जो झूठ बोल रहा हो वह राजनीति छोड़ दे।

 


जनता लाइव टीवी

Right Ads
Google Play

© Copyright Jantatv 2016. All rights reserved. Designed & Developed by: Paramount Infosystem Pvt. Ltd.