tata sky
होम | दुनिया | पाकिस्तान की ‘मदर टेरेसा’ डॉक्टर रूथ फाउ का निधन

पाकिस्तान की ‘मदर टेरेसा’ डॉक्टर रूथ फाउ का निधन

कराची: कुष्ठ उन्मूलन के लिए अपना जीवन समर्पित करने वाली पाकिस्तान की ‘मदर टेरेसा’ के नाम से मशहूर जर्मन डॉक्टर डॉ रूथ फाउ का कराची में एक निजी अस्पताल में गुरूवार निधन हो गया। वह 87 साल की थीं। उम्र संबंधी लंबी बीमारी के बाद उनका निधन हो गया। डॉ. फाउ पहली बार 1960 में पाकिस्तान आयी थीं और कुष्ठ पीड़ितों का दर्द उनके दिल को इस कदर छू गया कि उन्होंने उनके उपचार के लिए यहीं बसने का फैसला कर लिया। 

स्थानीय टीवी चैनल के अनुसार, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खकान अब्बासी ने डॉ. फॉ की तारीफ करते हुए कहा कि वह भले ही जर्मनी में पैदा हुई थीं, लेकिन उनका दिल हमेशा पाकिस्तान में रहा। साथ ही यह भी कहा कि वह यहां कुष्ठ रोग से पीड़ित लोगों का जीवन बेहतर बनाने आई थीं। ऐसा करते हुए वह यहीं की होकर रह गईं।

 

विदित हो कि डॉ.फॉ का जन्म 1929 में जर्मनी के लिपजिक शहर में हुआ था 1939 के द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान बमबारी में उनका घर तबाह हो गया था। मेडिसीन की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्हें दक्षिण भारत जाने के लिए कहा गया, लेकिन वीजा की दिक्कतों के चलते उन्हें कराची में ही रुकना पड़ा।

उन्होंने एक साक्षात्कार में बताया था कि उनका पहला मरीज एक युवा पठान था जो घिसटते हुए उनकी डिस्पेंसरी में आया था और उसी ने उन्हें सोचने पर मजबूर कर दिया था। कुष्ठ रोग उन्मूलन के क्षेत्र में उत्कष्ट कार्य करने के लिए उन्हें कई बार पाकिस्तान और जर्मनी में सम्मानित भी किया गया था।


जनता लाइव टीवी

Right Ads

© Copyright Jantatv 2016. All rights reserved. Designed & Developed by: Paramount Infosystem Pvt. Ltd.