होम | खेल | मास्ट ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर इस वजह से राज्यसभा में नहीं दे सके 'डेब्यू' भाषण

मास्ट ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर इस वजह से राज्यसभा में नहीं दे सके 'डेब्यू' भाषण

 

नई दिल्ली: क्रिकेट जगत में अपना लोहा मनवा चुके भारतीय खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर गुरुवार को राज्यसभा में पहली बार पंहुचे। क्रिकेट के मैदान से राज्यसभा के मैदान के सफर पर राज्यसभा में यह उनका डेब्यू भाषण था। लेकिन विपक्ष के हंगामे के चलते वे कुछ बोल नहीं सके। इतना ही नहीं 10 मिनट तक सचिन अपनी सीट पर खड़े रहे। इस दौरान उनके चेहरे पर केवल हल्की मुस्कान देखी गयी। ऐसे में सदन में की स्थिति देख उप-राष्ट्रपति वैंकया नायडू ने हंगामा कर रहे लोगों से आग्रह किया कि वे सचिन को बोलने दें।

बता दें कि अप्रैल 2012 में तेंदुलकर को सांसद चुना गया था। ये पहला मौका होगा, जब तेंदुलकर किसी मुद्दे पर बहस में शामिल होंगे। तेंदुलकर के नोटिस के मुताबिक वो चाहते हैं कि एजुकेशन सिस्टम में कानूनी तौर पर खेल को शामिल किया जाए।

गौरतलब है कि सचिन देश में खेल और खिलाड़ियों को लेकर व्यवस्था, ओलंपिक की तैयारियों और किस तरह भारतीय खिलाड़ी दुनियाभर में अच्छा प्रदर्शन कर सकते है इस पर अपने विचार रखने वाले थे। इसके अलावा सचिन इस बात पर भी अपनी आवाज़ उठा सकते हैं कि जो खिलाड़ी देश के लिए मेडल जीतते हैं, उन्हें रिटायरमेंट के बाद काफी कम पैसा मिलता है। सचिन स्कूली शिक्षा में खेल को एक सिलेबस के तौर पर पेश किए जाने की भी बात करने वाले थे। 


जनता लाइव टीवी

Right Ads
Google Play

© Copyright Jantatv 2016. All rights reserved. Designed & Developed by: Paramount Infosystem Pvt. Ltd.