tata sky
लोकसभा चुनाव में BJP चखेगी हार का स्वादः चंद्रबाबू नायडू           मायावती के बयान पर बोले अखिलेश- गठबंधन पर चर्चा होने की बात हुई साफ           दलितों से अत्याचार के मामलों के लिए विशेष कोर्ट का गठन किया जा रहा: PM मोदी           एक परिवार की पूजा करने वाले कभी लोकतंत्र की पूजा नहीं कर सकतेः PM मोदी          14 लेन का सफर दिल्ली-NCR के लोगों के जीवन को सुगम बनाने वाला है: PM          पीएम मोदी ने किया ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन           खेल सिर्फ खेल नहीं होते, वह जीवन के मूल्यों को सिखाते है: पीएम मोदी           फिट इंडिया की बात करता हूं तो मानता हूं कि जितना हम खेलेंगे, उतना ही देश खेलेगा: PM           पुणे: क्राइम ब्रांच ने 59 किलो चंदन बरामद किया, 1 शख्स गिरफ्तार           मोदी सरकार के विरोध में विश्वासघात दिवस मना रहे कांग्रेस नेताओं पर मुकदमा दर्ज           BJP के मंत्रियों को मां नर्मदा की परिक्रमा करने का चैलेंज देता हूं: दिग्विजय           श्रीनगर: वाहन पलटने से हादसा, CRPF के 19 जवान घायल           पीएम मोदी ने किया दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे का उद्घाटन          
होम | देश | मैं अब डरने लगा हूं क्योंकि लड़कियों ने भी बीयर पीना शुरु कर दिया है- पर्रीकर

मैं अब डरने लगा हूं क्योंकि लड़कियों ने भी बीयर पीना शुरु कर दिया है- पर्रीकर

 

पणजी। गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रीकर को लड़कियों की चिंता सताने लगी है। उन्हें इस बात से डर लगने लगा है कि लड़कियों ने बियर पीना शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा, मुझे डर लगने लगा है, क्योंकि अब तो लड़कियों ने भी बियर पीना शुरू कर दिया है, सहन शक्ति की सीमा टूट रही है। मनोहर पर्रीकर राज्य विधानमंडल विभाग द्वारा आयोजित किए जाने वाले राज्य युवा संसद को संबोधित करते हुए कहा कि ड्रग्स लेना कोई नई बात नहीं है। उन्होंने वहां मौजूद लोगों की तरफ इशारा करते हुए कहा कि मैं सभी कि मैं इस भीड़ की बात नहीं कर रहा। 

भारतीय प्रोद्यौगिकी संस्थान (आईआईटी) मुम्बई के पूर्व छात्र पर्रिकर ने कहा कि शिक्षण संस्थानों में ड्रग्ल लेना कोई नई परिघटना नहीं है।

उन्होंने अपने छात्र जीवन को याद करते हुए कहा,'जब मैं आईआईटी में था, तो वहां एक छोटा समूह था जो गांजे का नशा करता था। तो, यह कोई आज की परिघटना नहीं है। कुछ छात्रों पर पोर्नोग्राफी (अश्लील फिल्म) का जुनून सवार था।'

उन्होंने कहा कि सरकार ने प्रदेश में मादक पदार्थो के कारोबार के खिलाफ कार्रवाई की है। लेकिन उन्होंने कहा कि उन्हें नहीं लगता कि मादक पदार्थो की यह समस्या शैक्षणिक संस्थानों में प्रवेश कर गई है।

उन्होंने कहा कि मादक पदार्थो पूरे नेटवर्क के खिलाफ कार्रवाई शुरू हुई है और यह तब तक बंद नहीं होगी जब तक मादक पदार्थ का कारोबार खत्म नहीं हो जाता।

मुख्यमंत्री ने कहा, 'मादक पदार्थ बेचने वाले 170 लोगों की गिरफ्तारी के बाद 13 अगस्त 2017 को मैंने निर्देश दिए थे। नियमानुसार कम मात्रा में मादक पदार्थ मिलने पर आठ से 15 दिन या एक महीने में जमानत मिल जाती है। हमारे न्यायालय भी दयालु हैं.. लेकिन कम से कम दोषी पकड़े जाते हैं।'

 


जनता लाइव टीवी

Right Ads
Google Play

© Copyright Jantatv 2016. All rights reserved. Designed & Developed by: Paramount Infosystem Pvt. Ltd.