यूपी के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने राहुल गांधी के बयान पर EC को भेजी रिपोर्ट          यूपी: सीएम योगी संभल में आज करेंगे चुनावी रैली को संबोधित          सीएम योगी आज लखनऊ के हनुमान मंदिर में करेंगे पूजा          72 घंटे का बैन खत्म होने के बाद आज फिर चुनाव प्रचार में उतरेंगे सीएम योगी          
होम | हरियाणा | बसपा-इनेलो गठबंधन टूटा, LSP और BSP साथ लड़ेंगे लोकसभा चुनाव

बसपा-इनेलो गठबंधन टूटा, LSP और BSP साथ लड़ेंगे लोकसभा चुनाव

 

जींद उपचुनाव में इनेलो को मिली करारी हार के बाद बसपा-इनेलो गठबंधन टूट गया है। शनिवार को बसपा ने सांसद राजकुमार सैनी की लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी के साथ गठबंधन कर लिया। इसका ऐलान चंडीगढ़ से सांसद राजकुमार सैनी और बसपा के प्रभारी डॉ. मेघराज ने किया। दोनों पार्टियों ने आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनाव में सीटों के बंटवारे पर भी फैसला कर लिया है। इससे इनेलो को तगड़ा झटका लगा है।इससे पहले बसपा के दुष्‍यंत चौटाला की पार्टी जननायक जनता पार्टी और आम आदमी पार्टी के साथ मिलकर महागठबंधन बनने की चर्चाएं चल रही थीं।

बसपा और लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी ने शनिवार को यहां हरियाणा में आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनावों में गठबंधन का ऐलान किया। दाे दलों ने हरियाणा से लोकसभा की सभी 10 सीटों और विधानसभा की सभी 90 सीटों पर मिलकर चुनाव लड़ने की घोषणा की। दाेनों दलों ने इसके लिए सीटों का भी बंटवारा कर लिया है।

बहुजन समाज पार्टी लोकसभा चुनावों में आठ सीटों और लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी दो सीटों पर चुनाव लड़ेगी। इसी तरह विधानसभा की 90 सीटों में से 35 पर बसपा और 55 पर लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी चुनाव लड़ेगी। इससे पहले बसपा का इनेलो से गठबंधन था, लेकिन जींद उपचुनाव के बाद इसके टूटने की चर्चाएं चलने लगीं। नया गठबंधन 17 फरवरी को पानीपत में संयुक्‍त रैली करेगा।

बताया जाता है कि बसपा सुप्रीमो ने गठबंधन जारी रखने के लिए इनेलो के सामने ऐसी शर्त रख दी जिसे मानना वर्तमान हालत में उसके संभव नहीं था। मायावती ने कहा था कि इनेलो औरर उससे टूट कर बनी जेजेपी फिर से एकजुट हो जाए तभी गठबंधन जारी रखा जा सकता है।

हरियाणा की राजनीति में बने इस नए समीकरण को लेकर चर्चाएं कई दिनों से चल रही थीं। बसपा के प्रांतीय प्रभारी मेघराज, प्रदेश अध्यक्ष प्रकाश भारती और लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी के अध्यक्ष राजकुमार सैनी संयुक्त रूप से आज गठबंधन का ऐलान किया। इस गठबंधन से प्रदेश में दलित और पिछड़ा वर्ग के नए समीकरण बनने की संभावना है। दोनों पार्टियों के नेताओं ने शनिवार को चंडीगढ़ प्रेस क्लब में संयुक्त रूप से प्रेस कांफ्रेंस की।

इससे पहले सांसद राजकुमार सैनी की बसपा नेताओं के साथ बातचीत चल रही थी। उनकी बातचीत देर रात तक चलीं और गठबंधन के स्‍वरूप व सीटों के बंटवारे को लेकर सहमति बन गई। इसके बाद दोनों दलों के नेताओं ने  शनिवार की प्रेस कांफ्रेंस में गठबंधन का ऐलान कर दिया।

 


जनता लाइव टीवी

Right Ads
Google Play

© Copyright Jantatv 2016. All rights reserved. Designed & Developed by: Paramount Infosystem Pvt. Ltd.