tata sky
होम | सेहत | रमजान 2018: माहे रमजान की हुई शुरुआत, इन 5 चीजों का इफ्तारी में करें इस्तेमाल

रमजान 2018: माहे रमजान की हुई शुरुआत, इन 5 चीजों का इफ्तारी में करें इस्तेमाल

 

नई दिल्ली: इस्लाम धर्म को मानने वालों के लिए रमजान का पाक महीना आज से शुरू हो गया है। इस्लामी कैलेंडर के नौवें महीने को रमदान-अल-मुबारक यानी रमदान कहा जाता है। इस दौरान पूरे महीने दुनिया भर के मुसलमान रोजे रखते हैं। माहे मुबारक रमजान का पहला रोजा गुरुवार को होगा।

रोजे के दौरान रोजेदार दिन भर कुछ भी नहीं खाते हैं और खुदा की इबादत करते हैं। रोजा हर मुसलमान के लिए एक फर्ज है। इस बार रमजान का आखिरी रोजा सबसे ज्यादा वक्त का होगा। जिसकी अवधि 15 घंटे 42 मिनट होगी। सभी रोजों की अवधि पंद्रह घंटे पंद्रह मिनट से लेकर पंद्रह घंटे 42 मिनट के बीच रहेगी।

ऐसे में रोजा रखते वक्त मुस्लिम समुदाय के लोग सुबह सहरी के वक्त खाना खाते हैं और फिर पूरे दिन कुछ भी नहीं खाते। फिर शाम को इफ्तार के बाद रोजा खोला जाता है। रमजान के दिनों इफ्तार के लिए मुस्लिम परिवारों में तरह-तरह की स्वादिष्ट चीजें बनाई जाती हैं। आज हम आपको कुछ ऐसी हेल्दी और टेस्टी चीजों के बारे में बता रहे हैं जो आप इफ्तार में बना सकते हैं।

जूस या शरबत

रोजा खोलने के लिए आप जूस या शरबत का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। गर्मी में जूस या शरबत काफी फायदेमंद होता है। रोजा तोड़ने के लिए आप बेल, तरबूज और आम का जूस पी सकते हैं। अगर इनमें से कुछ भी मौजूद नहीं है तो आप रूह अफ़ज़ा पीकर भी अपना रोजा खोल सकते हैं। 

 

खीर

किसी भी खान-पान में मीठे का अपना महत्व होता है। इफ्तार में रोजा खोलने के लिए खीर का भी इस्तेमाल किया जाता है। चावल से बनी खीर खाने का एक अलग मजा है। इफ्तार के लिए इससे बेहतर ऑप्शन भला क्या होगा। ऐसा कहा जाता है कि रोजा खोलते समय दूध का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। आप खीर या दूध से बनी मिठाई का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

 

खजूर    

इस्लामिक ग्रंथ के मुताबिक पैगम्बर मोहम्मद ने कहा था कि जो कोई भी रोजा रखें, वो अपना रोजा खजूर से तोड़े। रोजेदार रोजा खोलते वक्त तीन खजूर खाएं। वे रुतब (गीला खजूर), तमर (सूखा खजूर) किसी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। खजूर न होने पर वे पानी पीकर भी रोजा तोड़ सकते हैं। पूरे दिन भूखे रहने से थकान लगने लगती है। यही कारण है कि आज भी रोजे को खजूर से ही तोड़ा जाता है। खजूर ऊर्जा का बेहतर स्त्रोत है। इसमें शुगर, प्रोटीन, विटामिन सी, पोटैशियम, मैग्नीशियम, आयरन, फाइबर, फैट और कार्बोहाईडेंट प्रचुर मात्रा में होता है। 

 

मसाला चना या छोले

दिनभर भूखे रहने के बाद शाम को इफ्तारी में लोग कुछ मसालेदार चीजें खाना ज्यादा पसंद करते हैं। इसके लिए मसालेदार चने या छोले बेहतर ऑप्शन हैं। इसे बनाने के लिए ज्यादातर खड़े मसालों का या घर के बने मसालों का इस्तेमाल किया जाता है। जिसे बड़ी साफ-सफाई से प्रयोग में लाया जाता है। 

 

पकौड़ी

रोजा खोलने के लिए आप घर पर पकौड़ियां बना सकते हैं। रोजों में वैसे तो हर तरह की पकौड़ियां खाई जाती हैं लेकिन जो सबसे ज्यादा अंडे की पकौड़ियां खाई जाती हैं। आप इसे बेसन के साथ मिलाकर बना सकते हैं। ये ना सिर्फ खाने स्वादिष्ट होती है बल्कि स्वास्थय के लिए भी बेहतर है। जाहिर है अंडे में सभी आवश्यक पोषक तत्व होते हैं। 

 


जनता लाइव टीवी

Right Ads
Google Play

© Copyright Jantatv 2016. All rights reserved. Designed & Developed by: Paramount Infosystem Pvt. Ltd.