Top ADVT
होम | देश | भीम सेना के मुखिया और सहारनपुर में हुई जातीय हिंसा के मुख्य आरोपी की आधी रात को हुई रिहाई

भीम सेना के मुखिया और सहारनपुर में हुई जातीय हिंसा के मुख्य आरोपी की आधी रात को हुई रिहाई

 

भीम सेना के मुखिया और 2017 में सहारनपुर में हुई जातीय हिंसा के मुख्य आरोपी चंद्रशेखर उर्फ रावण को एनएसए (राष्ट्रीय सुरक्षा कानून) के तहत जेल भेजा गया था जिसे अब सरकार ने गुरुवार रात करीब 2:24 बजे रिहा कर दिया है। वह लगभग 16 महीने से जेल में बंद था।

 

रिहाई के तुरंत बाद चंद्रशेखर ने एक सभा को संबोधित किया जिसमें उन्होंने बीजेपी पर जोरदार हमला बोला और कहा कि सरकार को सुप्रीम कोर्ट की तरफ से फटकार लगाई जा रही थी जिससे सरकार डरी हुई थी, इसलिए उन्होंने खुद को बचाने के लिए जल्दी रिलीज का आदेश दिया। मैं आश्वस्त हूं कि वह10 दिनों के भीतर मेरे खिलाफ कुछ न कुछ आरोप लगाएंगे। मैं 2019 में भाजपा को सत्ता से बाहर करने के लिए अपने लोगों से बात करूंगा।

 

वहीं प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार ने बताया कि, चंद्रशेखर को रिहा करने का आदेश सहारनपुर के जिलाधिकारी को गुरुवार को ही भेज दिया गया था। रिहाई का फैसला उनकी मां के प्रार्थना पत्र पर लिया गया है। चंद्रशेखर के जेल में बंद रहने की अवधि 1 नवंबर 2018 तक थी। चंद्रशेखर के साथ बंद दो अन्य आरोपियों सोनू पुत्र नथीराम और शिवकुमार पुत्र रामदास निवासी शब्बीरपुर को भी रिहा करने का निर्णय किया गया है।


जनता लाइव टीवी

Right Ads
Bottom ads
Google Play

© Copyright Jantatv 2016. All rights reserved. Designed & Developed by: Paramount Infosystem Pvt. Ltd.