Top ADVT
होम | हरियाणा | पिता के खिलाफ राष्ट्रीय खिलाड़ी का बयान, कहा जबरन शादी नहीं की तो मार देंगे

पिता के खिलाफ राष्ट्रीय खिलाड़ी का बयान, कहा जबरन शादी नहीं की तो मार देंगे

 

रोहतक: आज भी हमारे समाज में कई जगह किसी भी लड़की को अपनी मर्जी से अपना रास्ता चुनने का अधिकार नहीं है यही हमारे समाज की असलियत है. ऐसे में हाल ही में रोहतक से एक मामला सामने आया है जहां हरियाणा की बेटी अपने ही परिवार से बगावत करने के लिए बेबस हो गई है.

बता दें कि रोहतक में कबड्डी की एक खिलाड़ी ने अपने परिवार से बगावत कर ली है. उसका आरोप है कि उसके पिता ने उसका रिश्ता एक उम्रदराज शख्स से करा दिया है. आरोप ये भी है कि एक चैंपियनशिप से पहले पिता ने उसके अंगूठे को चोटिल कर दिया ताकि वह खेल ना पाए.

परेशान होकर उसने बगावत का रास्ता चुना और सीएम खट्टर से लेकर महिला आयोग व डीजीपी तक को पत्र लिख डाला. महिला आयोग ने आश्वासन दिया है कि मामला अगर सही है तो पीड़िता को इंसाफ दिलाया जाएगा.

प्रीति नाम की यह कबड्डी प्लेयर राष्ट्रीय स्तर पर खेल चुकी है, स्टेट चैंपियनशिप में अच्छा प्रदर्शन कर चुकी है और फेडरेशन की ओर से भी खेल चुकी है. वह वैश्य कॉलेज से बीए कर रही है लेकिन परिवार उसकी पढ़ाई छुड़ा कर शादी करा देना चाहता है.

प्रीति ने कहा कि वह अपने एक रिश्तेदार के यहां रह रही है और छुप कर व रास्ता बदल कर कॉलेज जाती है. उसे डर है कि उसका परिवार या तो उसे उठा ले जाएगा या फिर उसकी जान ले लेगा. ऐसे में मजबूर होकर प्रीति परिवार के खिलाफ गई और रोहतक की इस कबड्डी खिलाड़ी ने मुख्यमंत्री मनोहरलाल, महिला आयोग और डीजीपी को पत्र लिखा. प्रत्र में प्रीति ने लिखा कि

मेरी पढ़ाई जारी रखने दी जाई. मैं खेल भी जारी रखना चाहती हूं. सितंबर 2017 में मेरे पिता मुझे रोहतक से जबरन करनाल ले गए और एक उम्रदराज शख्स से रिश्ता तय करा दिया. नहीं मानने पर कई दिनों तक मुझे कमरे में बंद रखा गया. बाद में किसी तरह रोहतक आई. मैंने फिर से पढ़ाई और खेल की प्रैक्टिस शुरू कर दी. अब फिर कुछ लोगों के साथ पिता रोहतक आए और मुझे लेकर जाने लगे.

इतना ही नहीं पत्र में इसके आगे प्रीति ने जो लिखा है, वो आपको एक बार नहीं बार-बार सोचने पर मजबूर कर देगा कि क्या यही हमारी सामाजिक तरक्की की असली तस्वीर है. दरअसल प्रीति ने अपने पत्र में परिवार पर संगीन आरोप लगाए हैं. आरोप है कि प्रीति को परिवार से खतरा है. एक चैंपियनशिप में चयन का पता चलने पर पिता ने उसके अंगूठे में चोट पहुंचाई, ताकि वो खेल ना सके. प्रीति रोज रास्ता बदलकर कॉलेज जाती है.

बेटी बचाओ-बेटी पढाओ के दौर में ऐसी घटना का सामने आना काफी शर्मनाक है. देखना ये होगा कि सरकार इस पर क्या कदम उठाती है.


जनता लाइव टीवी

Right Ads
Bottom ads
Google Play

© Copyright Jantatv 2016. All rights reserved. Designed & Developed by: Paramount Infosystem Pvt. Ltd.