tata sky
होम | दुनिया | पाकिस्तान: सर्वोच्च 'कुर्सी' पर बैठना चाहता है आतंकी हाफिज, उतारेगा अपने 200 उम्मीदवार

पाकिस्तान: सर्वोच्च 'कुर्सी' पर बैठना चाहता है आतंकी हाफिज, उतारेगा अपने 200 उम्मीदवार

 

26/11 मुंबई आतंकी हमले के मास्टर माइंट हाफिज़ सईद खुद चुनाव नहीं लड़ेगा। हालांकि पाकिस्तान में 25 जुलाई को होने वाले चुनाव में अपनी पार्टी के 200 उम्मीदवारों को मैदान में उतारेगा।

लश्कर-ए-तैय्यबा से जुड़े संगठन जमात-उद-दावा की राजनीतिक पार्टी का नाम मिल्ली मुस्लिम लीग (एमएमएल) है। हालांकि अभी तक ये पार्टी पाकिस्तान चुनाव आयोग में रजिस्टर्ड नहीं है। इसलिए आम चुनाव में जमाद-उद-दावा ने निष्क्रिय राजनीतिक पार्टी अल्लाह-हू-अकबर तहरीक (एएटी) से लड़ने का फैसला किया है।

जेयूडी कार्यकर्ताओं और समर्थकों ने चुनाव आयोग से नामांकन पत्र ले लिए हैं और वे एएटी के मंच से अपने उम्मीदवार खड़े कर रहे हैं। एमएमएल के प्रवक्ता अहमद नदीम ने कहा, ‘एमएमएल अध्यक्ष सैफुल्ला खालिद और एएटी प्रमुख अहमद बरी आगामी चुनावों में एएटी के मंच पर संयुक्त रूप से उम्मीदवार खड़े करने पर सहमत हो गए हैं। सीटों के बंटवारे के समझौते के अनुसार, एमएमएल 200 से अधिक शिक्षित उम्मीदवार खड़े करेगी। वे एएटी के चुनाव चिह्न कुर्सी पर चुनाव लड़ेंगे।’

यह पूछे जाने पर कि क्या सईद की संसदीय चुनाव लड़ने की योजना है, इस पर प्रवक्ता ने कहा, ‘नहीं, हाफिज साहब की अभी ऐसी कोई योजना नहीं है। एमएमएल पहली बार चुनावों में भाग ले रही है और उम्मीद करते हैं कि हम संसद में जाएंगे।’ उन्होंने कहा, ‘हमें उम्मीद है कि लोग हमारे उम्मीदवारों का चयन करेंगे।’

जेयूडी ने एमएमएल का गठन तब किया जब लाहौर में हाफिज को गिरफ्तार कर लिया गया था। 30 जनवरी को आतंक विरोधी कानून के तहत हाफिज व उसके चार सहयोगी अब्‍दुल्‍ला उबैद, मलिक जफर इकबाल, अब्‍दुल रहमान आबिद और काजी काशिफ हुसैन को लाहौर में नजरबंद कर लिया गया था। जेयूडी को जून 2014 में अमेरिका ने विदेशी आतंकी संगठन घोषित किया था। जेयूडी प्रमुख पर आतंकी गतिविधियों में संलिप्तता के कारण एक करोड़ डॉलर का ईनाम भी है। 


जनता लाइव टीवी

Right Ads
Google Play

© Copyright Jantatv 2016. All rights reserved. Designed & Developed by: Paramount Infosystem Pvt. Ltd.