tata sky
होम | सेहत | ग्रीन टी के फायदे अधिक, नुकसान अत्यधिक

ग्रीन टी के फायदे अधिक, नुकसान अत्यधिक

 

सेहत के लिए फायदेमंद चीज़ों में सबसे ज़्यादा पॉपुलर अगर हाल में कुछ हुआ है तो वह है ग्रीन टी जिसकी तमाम खूबियां हैं, लेकिन खूबियों के साथ आती हैं खामियां। ग्रीन टी से होने वाले फायदों के बारे में तो सब ही जानते हैं लेकिन उससे होने वाले नुकसान के बारे में कुछ ही लोगों को पता है। बता दें ग्रीन टी के कुछ ऐसे नुकसान हैं जो कई लोगों के लिए खतरनाक साबित हो सकते हैं। ज़रूर पढ़ें ग्रीन टी से होने वाले यह नुकसान-

 

कैफीन

यह तो सब ही जानते होंगे की कॉफी में कैफीन भी उपस्थि‍त होता है। लेकिन ग्रीन टी में भी कैफीन मौजूद होता है, इस बात की जानकारी कुछ ही लोगों को है। हालांकि कॉफी की तुलना में ग्रीन टी में कैफीन की मात्रा बेहद कम होती है, लेकिन दिनभर में ग्रीन टी का अत्यधि‍क सेवन करने से वह खतरनाक बीमारियां भी पैदा कर सकती है और इससे हो सकती है पेट की समस्या, अनिद्रा, उल्टी, दस्त एवं अन्य समस्याओं के शि‍कार हो सकते हैं।

 गर्भवस्था में

गर्भवस्था में या फिर शि‍शु के जन्म के बाद भी ग्रीन टी का अत्यधि‍क सेवन करना कुछ ठीक नहीं है।  गर्भवस्था में ग्रीन टी का अत्यधि‍क सेवन करने से आपको लाभ की बजाए हानि हो सकती है। बता दें उन दिनों इसके ज़्यादा सेवन से गर्भपात की संभावनाएं भी बढ़ सकती हैं। इसलिए दिन में दो कप से ज़्यादा ग्रीन टी पीना गर्भवती महिलाओं के लिए कई तरह से खतरनाक हो सकता है।

आयरन की कमी

 इस बात का आप शायद ही यकीन कर पाएंगे कि ग्रीन टी का अत्यधि‍क सेवन करने से आपके शरीर में लौह यानि आयरन की कमी हो सकती है। दरअसल ग्रीन टी में टैनिन, खाद्य पदार्थ और पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो आयरन के अवशोषण में अवरोध उत्पन्न करते हैं।

ऑस्ट‍ियोपोरोसिस

हालांकि ग्रीन टी और ऑस्ट‍ियोपोरोसिस का कोई सीधा संबंध नहीं है, लेकिन ग्रीन टी को अधि‍क मात्रा में पीने से कैल्शि‍यम की वह मात्रा बढ़ जाती है, जो यूरिन के माध्यम से शरीर के बाहर निकल जाती है। इस तरह से शरीर में कैल्शि‍यम की अधि‍क कमी हो सकती है और आप ऑस्ट‍ियोपोरोसिस जैसी बीमारियों के शिकार बन सकते हैं।

टेस्टोस्टेरॉन की कमी

ब्राजील में किए गए एक शोध के अनुसार अधि‍क मात्रा में ग्रीन टी का सेवन शरीर में टेस्टोस्टेरॉन के स्तर को कम करता है। ब्राजील के इस शोध में यह बात भी सामने आई कि ग्रीन टी का सेवन कम करने से या इसकी मात्रा में कमी आने से टेस्टोस्टेरॉन का स्तर सामान्य होने में मदद मिलती है।

भूख में कमी

ग्रीन टी का अधि‍क सेवन आपकी भूख को कम कर सकता है, जिसे आप सही डाइट नहीं ले पाते और आपके शरीर को ज़रूरी मात्रा में पोषण नहीं मिल पाता। इस तरह से आपका शरीर कमज़ोर भी हो सकता है।

गुर्दे में पथरी

 ग्रीन टी में पाया जाने वाला ऑक्जेलिक एसिड गुर्दे में पथरी बनने का कारण हो सकता है। इसके अलावा इसमें कैल्शि‍यम, यूरिक एसिड, अमीनो एसिड और फास्फेट भी पाया जाता है जो ऑक्जेलिक एसिड के साथ मिलकर गुर्दे की पथरी के लिए ज़िम्मेदार होते हैं।


जनता लाइव टीवी

Right Ads
Google Play

© Copyright Jantatv 2016. All rights reserved. Designed & Developed by: Paramount Infosystem Pvt. Ltd.