होम | देश | गंगा एक्ट को लेकर 111 दिनों से अनशन कर रहे सानंद का हुआ निधन

गंगा एक्ट को लेकर 111 दिनों से अनशन कर रहे सानंद का हुआ निधन

 

गंगा एक्ट की मांग को लेकर 111 दिन से अनशन पर बैठे पर्यावरणविद प्रोफेसर जी डी अग्रवाव उर्फ ज्ञानस्वरूप सानंद का 86 वर्ष की आयु में निधन हो गया. प्रो अग्रवाल ने मंगलवार को जल भी त्याग दिया था, जिसके बाद प्रशासन ने उन्हें जबरन उठाकर ऋषिकेश के एम्स में भर्ती करवा दिया था.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक प्रो. अग्रवाल ने कहा था, ' हमने प्रधानमंत्री और जलसंसाधन मंत्रालय को बहुत सारे पत्र भेजे लेकिन उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं आया. मैं बीते 109 दिनों से आमरण अनशन पर हूं और अब मैंने फैसला किया है कि मैं अपनी तपस्या और आगे बढ़ाउंगा और गंगा नदी के लिए अपने जीवन का बलिदान कर दूंगा. मेरी मौत के साथ ही मेरे अनशन का अंत होगा.'

हालांकि प्रो. अग्रवाल का अनशन तुड़वाने के लिए उत्तराखंड के पूर्व सीएम और दिग्गज नेता रमेश पोखरियाल निशंक ने काफी कोशिशें की थीं लेकिन उनकी कोशिशें बेकार गईं.

पश्चिम उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में एक किसान परिवार में पैदा हुए जीडी अग्रवाल आईआईटी रुड़की से सिविल इंजीनियरिंग में स्नातक किया था. बाद में उन्होंने कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय से पीएचडी की डिग्री भी हासिल की थी.

वो केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के पहले मेंबर सेक्रेटरी भी रहे. वो कानपुर आईआईटी सिविल इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट के हेड भी रहे. इसके अलावा भी प्रो. अग्रवाल के या तो कई पदों पर रहे या किसी प्रोजेक्ट से जुड़े रहे. गांधीवादी तरीके जीवन जीने वाले प्रो. जीडी अग्रवाल ने साल 2011 में सन्यास धारण कर लिया था और उसके बाद गंगा से जुड़े अभियान पर ही अपना जीवन समर्पित कर दिया. स्वतंत्रता सेनानी पंडित मदन मोहन मालवीय द्वारा शुरू की गई एक संस्था गंगा महासभा के वो संरक्षक भी थे.


जनता लाइव टीवी

Right Ads
Google Play

© Copyright Jantatv 2016. All rights reserved. Designed & Developed by: Paramount Infosystem Pvt. Ltd.