श्रीलंका धमाका : पुलिस ने अब तक 24 संदिग्धों को गिरफ्तार किया          श्रीलंका धमाका : पुलिस ने अब तक 24 संदिग्धों को गिरफ्तार किया           श्रीलंका धमाकों में मरने वालों की संख्या बढ़कर 290 हुई          AAP उम्मीदवार आज भरेंगे पर्चा, कांग्रेस के खिलाफ पोल-खोल अभियान की तैयारी          तमिलनाडु: त्रिची जिले में करूपू स्वामी मंदिर के बाहर भगदड़, 7 मरे, 10 घायल          
होम | दुनिया | अर्जेंटीना में भारत की बड़ी कामयाबी, 2022 में जी-20 शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेगा भारत

अर्जेंटीना में भारत की बड़ी कामयाबी, 2022 में जी-20 शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेगा भारत

 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कूटनीति को बड़ी सफलता मिली है। देश की आजादी की 75वीं सालगिरह पर भारत जी 20 बैठक की मेजबानी करेगा। जी 20 शिखर सम्मेलन की मेजबानी करने का ऐलान शनिवार को अर्जेंटीना में हुआ। दे दिन के सम्मेलन के समापन के मौके पर यह ऐलान किया गया है। इससे पहले 2022 में जी-20 की मेजबानी इटली करने वाला था।

साल 2022 में इटली को G20 की मेजबानी करनी थी लेकिन प्रधानमंत्री मोदी के अनुरोध पर अब भारत मेजबानी करेगा.  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि जिस वर्ष देश अपना 75वां स्वतंत्रता दिवस मनाएगा उसी साल वह जी-20 समिट की मेजबानी करेगा. प्रधानमंत्री ने यह बात अर्जेंटिना में अंतरराष्ट्रीय बैठक के दौरान कही.

पीएम मोदी ने कहा, 'साल 2022 में भारत का 75वां स्वतंत्रता दिवस होगा, हमने इटली से अनुरोध किया कि हमें साल 2021 की जगह साल 2022 में जी 20 की मेजबानी करने दी जाए. उनके साथ सभी ने हमारा अनुरोध स्वीकार कर लिया. मैं कृतज्ञ हूं और दुनिया भर के नेताओं को साल 2022 में आने का न्योता देता हूं. 'पीएम मोदी ने कहा कि वह जी-20 सदस्यों के आभारी हैं.

प्रधानमंत्री ने घोषणा के बाद ट्वीट किया, ‘साल 2022 में भारत की आजादी के 75 साल पूरे हो रहे हैं. उस विशेष साल में, भारत जी-20 शिखर सम्मेलन में विश्व का स्वागत करने की आशा करता है. विश्व की सबसे तेजी से उभरती सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था भारत में आइए. भारत के समृद्ध इतिहास और विविधता को जानिए और भारत के गर्मजोशी भरे आतिथ्य का अनुभव लीजिए.

बता दें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13वें जी-20 शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए गुरुवार को अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस आयर्स पहुंचे थे. इस शिखर सम्मेलन में मोदी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्ंरप समेत विश्व के दूसरे नेताओं ने आगामी दशक की नई चुनौतियों से निपटने के तौर तरीकों पर चर्चा की.

रणनीतिक लिहाज से महत्वपूर्ण हिन्द -प्रशांत क्षेत्र में चीन का दबदबा बढ़ने के बीच मोदी ने ट्रंप और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ त्रिपक्षीय बैठक भी की.


जनता लाइव टीवी

Right Ads
Google Play

© Copyright Jantatv 2016. All rights reserved. Designed & Developed by: Paramount Infosystem Pvt. Ltd.