होम | अध्यात्म | गणेश चतुर्थी का महापर्व आज, जानें गणपति स्थापना का शुभ मुहूर्त और पूजा का विधि विधान

गणेश चतुर्थी का महापर्व आज, जानें गणपति स्थापना का शुभ मुहूर्त और पूजा का विधि विधान

 

आज सभी देवी-देवताओं में सबसे पहले पूजे जाने वाले भगवान गणेश की चतुर्थी है। आज भगवान गणेश का जन्म हुआ था। भाद्रपद मास के शुक्लपक्ष की चतुर्थी को गणेश चतुर्थी के रूप में मनाया जाता है। भगवान गणेश का जन्म चतुर्थी को मध्याह्न काल में हुआ था। इसलिए मध्याह्न काल में ही भगवान गणेश की पूजा और प्रतिमा की स्थापना की जाती है।

 

ऐसे करें स्थापित

पूजा स्थल की सफाई कर एक साफ चौकी पर लाल कपड़ा बिछाकर उस पर अक्षत रखें और गणपति को स्थापित करें। इसके बाद गणपति को पान के पत्ते की सहायता से गंगाजल से स्नान कराएं। पीले वस्त्र गणपति को अर्पित करें। इसके बाद रोली से तिलक कर अक्षत लगाएं, फूल चढ़ाएं और मिष्ठान का भोग लगाएं।

 

धार्मिक मान्यता है कि गणेश जी की पूजा करने से किसी भी शुभ कार्य में कोई विघ्न, बाधा नहीं आती है। इसलिए हर कार्य में सबसे पहले गणपति की पूजा करने का विधान है।

 

गणेश चतुर्थी शुभ मुहूर्त

गणेशोत्सव का प्रसिद्ध महापर्व इस साल श्री गणेश चतुर्थी 13 सितम्बर 2018 गुरुवार से प्रारम्भ होकर 23 सितम्बर 2018 रविवार को गणपति विसर्जन के साथ समाप्त होगा।

 

चतुर्थी तिथि प्रारम्भ:  12 सितंबर दिन बुधवार को शाम 4:07 से

 

चतुर्थी तिथि समाप्त: 13 सितंबर दिन गुरूवार को दोपहर 2:51 बजे तक

 

गणेश पूजन मुहूर्त:  13 सितंबर दिन गुरूवार को सुबह 11:02 से 13:31 तक

 

गणेश जी की मूर्ति लाने का मुहूर्त: 12 सितम्बर को मध्याह्न 3:30 से सांयकाल 6:30 तक

 


जनता लाइव टीवी

Right Ads
Google Play

© Copyright Jantatv 2016. All rights reserved. Designed & Developed by: Paramount Infosystem Pvt. Ltd.