Top ADVT
होम | पंजाब | पनबस के ड्राइवर तीन दिन की हड़ताल पर, रोडवेज प्रशासन ने की वैकल्पिक व्यवस्था

पनबस के ड्राइवर तीन दिन की हड़ताल पर, रोडवेज प्रशासन ने की वैकल्पिक व्यवस्था

 

पंजाब रोडवेज की पनबस के कांट्रेक्ट पर रखे गए ड्राइवर और कंडक्टर आज से तीन दिनों की हड़ताल पर हैं। इस हड़ताल के कारण बस स्टैंड अमृतसर से चलने वाली 70 प्रतिशत बसों का रूट प्रभावित हो सकता है। वहीं बसों के न चलने से यात्रियों को भी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। बता दें रोडवेज प्रशासन ने इसकी वैकल्पिक व्यवस्था कर रखा है। साथ ही आपको बता दें इस हड़ताल में पनबस के स्थाई कर्मचारी शामिल नहीं है।

 

इस हड़ताल से दिल्ली, चंडीगढ़, शिमला, जम्मू, पठानकोट, अंबाला, श्री पाउंटा साहिब, हनुमानगढ़ और श्री गंगानगर सहित अन्य शहरों में जाने वाले यात्रियों को परेशानी हो सकती है। इसके साथ लोकल रूट भी प्रभावित हो सकते हैं।

 

इस समय राज्य में पनबस की करीब 1250 बसें विभिन्न मार्गो पर अपनी सेवाएं दे रही हैं। अमृतसर डीपो नंबर 1 और 2 से करीब 190 पनबस हैं जो प्रभावित होगी। पूरे पंजाब मे करीब 4500 कर्मचारी हड़ताल बैठने की संभावना है।

 

पंजाब रोडवेज पनबस ड्राइवर और कंडक्टर और वर्कर यूनियन अमृतसर के प्रधान ने बताया कि 16 जुलाई को पूरे पंजाब के बस अड्डों के गेट पर प्रात: सात बजे से रोष धरना दिया जाएगा। कोई भी बस बस अड्डे से नही चलने दी जाएगी। 17 जुलाई को प्रदेशभर से कर्मचारी दीनानगर में परिवहन मंत्री का पुतला जलाएंगे। 18 जुलाई को सभी शहरों के मुख्य चौराहों मे रोष प्रर्दशन कर रेगुलर किए जाने की मांग करेंगे।

 

मामले में पंजाब रोडवेज अमृतसर डिपू के जीएम ने कहा कि हड़ताल के कारण बसों का परिचालन प्रभावित होगा। हलांकि वैकल्पिक तौर पर पक्के कर्मचारियों की ड्यूटियां लगाई गई हैं ताकि बसों का परिचालन प्रभावित न हो। हो सकता है लंबे रूट की बसें न चल पाएं। फिर भी पूरा प्रयास है कि यात्रियों को परेशानी न आने दी जाए।


जनता लाइव टीवी

Right Ads
Bottom ads
Google Play

© Copyright Jantatv 2016. All rights reserved. Designed & Developed by: Paramount Infosystem Pvt. Ltd.