नेशनल हेराल्ड केस: दिल्ली हाईकोर्ट में एजेएल की याचिका पर आज सुनवाई           मुंबई: मराठा आरक्षण मामले में आज पिछड़ा वर्ग आयोग सौंपेगा जांच रिपोर्ट           पेट्रोल की कीमत में गिरावट, दिल्ली में 15 पैसे की कमी के बाद 77.28 रु./लीटर हुआ           डीजल की कीमत में गिरावट, दिल्ली में 10 पैसों की कमी के बाद 72.09 रु./लीटर हुआ           पीएम मोदी सिंगापुर में आसियान-इंडिया इनफॉर्मल ब्रेकफास्ट समिट में शामिल हुए           दिल्ली: बवाना इंडस्ट्रियल इलाके के प्लास्टिक के गोदाम में लगी आग काबू में           दिल्लीः वसंत कुंज में डबल मर्डर, महिला फैशन डिजाइनर और नौकर की हत्या           दिल्लीः डबल मर्डर केस में पूछताछ के लिए 3 नौकर हिरासत में लिए गए           गाजा तूफान की आहट से सहमा दक्षिण भारत, तटीय इलाकों में हाईअलर्ट           उत्तर भारत के तीन राज्यों में भारी बर्फबारी से रफ्तार पर ब्रेक           जम्मू कश्मीर में जमकर बर्फबारी, सर्दी के शुरुआती दिनों में सफेद हुई घाटी         
होम | खेल | टीम चयन से नाराज गावस्कर को आई धोनी की याद, बोले- धोनी को नहीं लेना था टेस्ट से संन्यास

टीम चयन से नाराज गावस्कर को आई धोनी की याद, बोले- धोनी को नहीं लेना था टेस्ट से संन्यास

 

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच जारी तीन मैचों की सीरीज के दूसरे टेस्ट में ऐसा कुछ हुआ, जिसके बाद से क्रिकेट दिग्गजों से लेकर फैन्स को महेंद्र सिंह धौनी की काफी याद आ रही है। मैच में पार्थिव पटेल की विकेटकीपिंग देखकर हर कोई हैरान रह गया। पार्थिव ने जो कैच टपकाए हैं, वो भारत की हार का कारण भी बन सकते हैं। पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने इस मैच के दौरान कहा कि धौनी को टेस्ट क्रिकेट से संन्यास नहीं लेना चाहिए था।

मैच में कॉमेंट्री कर रहे गावस्कर ने पार्थिव की विकेटकीपिंग को देखकर बोले कि धोनी ने टेस्ट क्रिकेट को जल्द ही अलविदा कह दिया है वो अब भी टेस्ट क्रिकेट खेल सकते हैं परन्तु कप्तानी के बोझ की वजह से उन्होंने टेस्ट क्रिकेट से सन्यास ले लिया। गावस्कर बोले कि चाहे धोनी कप्तानी छोड़ देते परन्तु बतौर विकेटकीपर और बल्लेबाज़ टीम में बने रहते, ड्रेसिंग रूम में उनकी सलाह टीम के लिए बेहद कारगर होतीं। लेकिन शायद धोनी ने सोचा कि खेल के एक फॉर्मेट को छोड़ देना ही बेहतर होगा।

ऋद्धिमान साहा के चोटिल होने की वजह से तीसरे टेस्ट में दिनेश कार्तिक को विकेटकीपर की जगह लेनी पड़ेगी। पार्थिव ने दूसरे टेस्ट की पहली पारी में हाशिम अमला का कैच तब छोड़ा, जब 30 रन पर बैटिंग कर रहे थे। इसके बाद अमला ने 82 रन बनाए। इसी तरह साउथ अफ्रीका की दूसरी पारी में उन्होंने डीन एल्गर का आसान सा कैच पकड़ने की कोशिश भी नहीं की, इसके बाद एल्गर ने 61 रनों की पारी खेली।


जनता लाइव टीवी

Right Ads
Google Play

© Copyright Jantatv 2016. All rights reserved. Designed & Developed by: Paramount Infosystem Pvt. Ltd.