tata sky
बहादुरगढ़-धुंध के कारण टकराईं 20 से ज्यादा गाड़िया, NH-9 पर आसौदा मोड़ के पास हुआ हादसा          दिल्ली- पंजाब CM कैप्टन अमरिंदर करेंगे राहुल गांधी से मुलाकात, राणा गुरजीत के इस्तीफे पर हो सकती है           दिल्ली- GST काउंसिल की 25वीं बैठक शुरू, बैठक में सभी राज्यों के वित्तमंत्री मौजूद          फिल्म पद्मावत को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज, हरियाणा समेत 5 राज्यों में बैन के खिलाफ सुनवाई          J&K- पाकिस्तान ने आरएसपुरा में LoC पर तोड़ा सीजफायर, सेना का एक जवान शहीद          फतेहाबाद-घर में घुसकर युवती से गैंगरेप, 2 युवकों पर गैंगरेप का लगा आरोप          दिल्ली-NCR में कोहरे से यातायात प्रभावित, 5 ट्रेनें रद्द,11 के समय में किया गया बदलाव           पंचकूला-डेरा प्रबंधक रंजीत सिंह हत्या का मामला, पंचकूला की विशेष सीबीआई कोर्ट में होगी सुनवाई         
होम | दुनिया | नेपाल ने इंटरनेट के लिए थामा चीन का हाथ, सिर्फ भारत पर निर्भरता खत्म

नेपाल ने इंटरनेट के लिए थामा चीन का हाथ, सिर्फ भारत पर निर्भरता खत्म

 

काठमांडो : नेपाल के निवासियों ने शनिवार से हिमालय पर्वत पर बिछी चीन की ऑप्टिकल फाइबर लिंक के जरिए इंटरनेट का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया। इसी के साथ साइबर दुनिया से जुड़ने के लिए उनकी भारत पर निर्भरता समाप्त हो गई।

जानकारी के मुताबिक रसुवागढ़ी सीमा के माध्यम से चीनी फाइर लिंक द्वारा मिलने वाली इंटरनेट की प्रारंभिक स्पीड 1.5 गीगाबाइट प्रति सेकंड (जीबीपीएस) होगी, यह भारत से मिलने वाली स्पीड से कम है।

भारत इससे पहले बीरतनगर, भैरहवा और बीरगंज के माध्यम से नेपाल के लिए 34 जीबीपीएस की स्पीड मुहैया कर रहा है। अधिकारियों के मुताबिक हिमालय पर्वतों में चीन के ऑप्टिकल फाइबर लिंक का वाणिज्यिक परिचालन शुरू हो गया है।

शुक्रवार को एक कार्यक्रम के दौरान नेपाल के सूचना एवं संचार मंत्री मोहन बहादुर बासनेत ने नेपाल-चीन सीमा पर ऑप्टिकल फाइबर लिंक का उद्घाटन किया है।

साल 2016 में सरकारी कंपनी नेपाल टेलीकॉम ने चाइना की सरकारी कंपनी चाइना टेलीकम्यूनिकेशन के साथ एक एमओयू पर हस्ताक्षर किए थे।

 


जनता लाइव टीवी

Right Ads
Google Play

© Copyright Jantatv 2016. All rights reserved. Designed & Developed by: Paramount Infosystem Pvt. Ltd.