होम | पंजाब | अमृतसर रेल हादसा: जांच रिपोर्ट में पटरी पर खड़े लोगों को बताया गया लापरवाह

अमृतसर रेल हादसा: जांच रिपोर्ट में पटरी पर खड़े लोगों को बताया गया लापरवाह

 

अमृतसर में हुए रेल हादसे के लिए गुरुवार को रेलवे सुरक्षा आयुक्त ने दशहरा समारोह देखने के मकसद से रेलवे पटरियों पर खड़े लोगों की लापरवाही को जिम्मेदार बताया है. इस हादसे में 60 लोग ट्रेन की चपेट में आने से मारे गए थे. मामले की अस्थायी जांच रिपोर्ट में ऐसा कहा गया है.

मुख्य रेलवे सुरक्षा आयुक्त एस के पाठक ने अपनी रिपोर्ट में कहा है, ‘तथ्यों और साक्ष्यों पर सावधानी पूर्वक गौर करने के बाद मैं इस अंतिम निष्कर्ष पर पहुंचा हूं कि 19 अक्टूबर को शाम छह बजकर 55 मिनट पर फिरोजपुर मंडल के अमृतसर के निकट जौड़ा फाटक पर हुआ ट्रेन हादसा उन लोगों की लापरवाही का नतीजा है जो दशहरा का मेला देखने के लिए पटरी पर खड़े थे.

रिपोर्ट में दुर्घटनाओं से बचने के लिए की गई सिफारिशें
मुख्य रेलवे सुरक्षा आयुक्त पाठक ने अपनी रिपोर्ट में कहा है, ''तथ्यों और साक्ष्यों पर सावधानी पूर्वक गौर करने के बाद मैं इस अंतिम निष्कर्ष पर पहुंचा हूं कि 19 अक्टूबर को शाम छह बजकर 55 मिनट पर फिरोजपुर मंडल के अमृतसर के निकट जौड़ा फाटक पर हुआ ट्रेन हादसा उन लोगों की लापरवाही का नतीजा है जो दशहरा का मेला देखने के लिए पटरी पर खड़े थे.'' रिपोर्ट में उन्होंने दुर्घटना को "रेलवे लाइन के पास जनता द्वारा काम करने में त्रुटि" के रूप में वर्गीकृत किया है और भविष्य में ऐसी दुर्घटनाओं से बचने के लिए कई सिफारिशें की हैं.


जनता लाइव टीवी

Right Ads
Google Play

© Copyright Jantatv 2016. All rights reserved. Designed & Developed by: Paramount Infosystem Pvt. Ltd.