होम | मनोरंजन | B’DAY SPECIAL: हिंदी सिनेमा के जनक दादा साहेब फाल्के के 148 वें जन्मदिन पर Google ने बनाया Doodle

B’DAY SPECIAL: हिंदी सिनेमा के जनक दादा साहेब फाल्के के 148 वें जन्मदिन पर Google ने बनाया Doodle

 

नई दिल्ली। हिंदी सिनेमा के जनक या कहे फिल्म उद्योग के 'पितामह' दादा साहेब फाल्के की आज 148वीं जयंती है। इस अवसर पर गूगल ने डूडल बनाकर दादा साहेब को श्रद्धाजंलि दी है। फाल्के भारतीय फिल्मों के पहले निर्माता, निर्देशक और स्क्रिप्टराइटर थे। उन्होंने अपने 19 साल के करियर के दौरान 95 फिल्में और 27 शॉर्ट फिल्म बनाई थीं। दादा साहेब की पहली फिल्म 'राजा हरिशचंद्र' थी। यह भारत की पहली फीचर फिल्म है। इसके बाद उन्होंने मोहिनी भस्मासुर, सत्यवान सावित्री और कालिया मर्दन जैसी कई यादकार फिल्में बनाईं।

दादासाहेब गोविंद फाल्के का जन्म 30 अप्रैल 1870 को महाराष्ट्र के त्रिम्बकेश्वर में हुआ था। उनके पिता एक सफल विद्वान थे। दादा साहेब फाल्के ने अपनी पढ़ाई जेजे स्कूल ऑफ आर्ट मुंबई से की। इसके बाद उन्होंने गुजरात के बड़ौदा में महाराजा सयाजीराओ युनिवर्सिटी में कला भवन से स्क्लप्चर, इंजीनियरिंग, ड्रोइंग, पेंटिंग और फोटोग्राफी सीखी और गोधरा में एक फोटोग्राफर के तौर पर अपने करियर की शुरुआत की लेकिन अपनी पहली पत्नी और बेटे को टाउन प्लेग में खोने के बाद उन्होंने इस काम को छोड़ दिया।

बता दें कि दादा साहेब फाल्के के हिंदी सिनेमा के शुरुआती दिनों में भारी योगदान देने के लिए उनकी 25वीं पुण्यतिथि पर यानी की साल 1969 से उनके नाम पर दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड का चलन शुरु हुआ जो फिल्म जगत के सभी अवॉर्ड्स से श्रर्वश्रेष्ठ माना जाता है।

इस अवॉर्ड के चलन शुरू होने के बाद से खबरों के मुताबिक पहला दादा साहब फाल्के अवॉर्ड से उस समय की जानी मानी अभिनेत्री देविका रानी को सम्मानित किया गया था। मालूम हो कि इस साल का दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड विनोद खन्ना को दिया गया है। दादा साहेब फाल्के के नाम पर इतना ही नहीं भारत सरकार ने साल 1971 में डाक टिकट भी जारी किया था।

 


जनता लाइव टीवी

Right Ads
Bottom ads
Google Play

© Copyright Jantatv 2016. All rights reserved. Designed & Developed by: Paramount Infosystem Pvt. Ltd.