होम | दुनिया | मैट्रिक फेल पायलट उड़ा रहे थे प्लेन, कंपनियों ने दिखाया बाहर का रास्ता

मैट्रिक फेल पायलट उड़ा रहे थे प्लेन, कंपनियों ने दिखाया बाहर का रास्ता

 

पाकिस्तान में 10वीं फेल पायलट सरकारी एयरलाइंस के प्लेन उड़ा रहे थे। देश की सिविल एविएशन अथॉरिटी ने इसे लेकर खुलासा किया है, जिसके बाद पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस के 5 पायलट अरेस्ट कर लिए गए हैं। 50 पायलट को सस्पेंड भी किया गया है। अथॉरिटी को इससे पहले 7 पायलट्स के एजुकेशनल सर्टिफिकेट फर्जी होने की जानकारी मिली थी, जिसके बाद ये खुलासा हुआ।

पाकिस्तान के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (सीएए) ने यह खुलासा शुक्रवार को उच्चतम न्यायालय के समक्ष किया। प्राधिकरण ने न्यायालय को बताया कि सात पायलटों ने फर्जी प्रमाण-पत्रों के आधार पर पीआईए में नौकरी हासिल की। इनमें से पांच तो ऐसे थे जिन्होंने मैट्रिक तक भी शिक्षा हासिल नहीं की थी।

तीन सदस्यीय पीठ के एक सदस्य न्यायाधीश एजाजुल अहसान ने टिप्पणी की कि मैट्रिक तक की शिक्षा प्राप्त करने वाला व्यक्ति बस तक नहीं चला सकता, लेकिन मिडिल पास लोगों ने हवाई जहाज उड़ाकर यात्रियों के जीवन को खतरे में डाला।

डान न्यूज के अनुसार मुख्य न्यायाधीश मियां साकिब निसार की अध्यक्षता वाली खंडपीठ सरकारी हवाई सेवा में कार्यरत पायलट और अन्य कर्मचारियों की डिग्री प्रामाणिकता से जुड़े एक मामले की सुनवाई कर रही थी।

सीएए के कानूनी सलाहकार ने न्यायालय को बताया कि शैक्षिक बोर्डों और विश्वविद्यालयों के डिग्री प्रामाणिकता प्रक्रिया में सहयोग नहीं करने से अधिकारियों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। वकील ने यह भी कहा कि पीआईए पायलट, केबिन क्रू और अन्य कर्मचारियों का रिकॉर्ड उपलब्ध कराने में देरी भी करती है।

पीआईए के अधिकारी ने न्यायालय को बताया कि कम से कम 50 कर्मचारियों को शिक्षा से जुड़े दस्तावेज उपलब्ध नहीं कराने पर निलंबित भी किया गया।


जनता लाइव टीवी

Right Ads
Google Play

© Copyright Jantatv 2016. All rights reserved. Designed & Developed by: Paramount Infosystem Pvt. Ltd.